क्या है आयुष्मान भारत योजना, कैसे ले सकते है इस योजना से लाभ?

हमें अपने देश के प्रधानमंत्री पर गर्व होना चाहिये जो गरीब जनता के लिए कुछ ना कुछ योजनाए लेकर आते है और उनको लाभांतित करते है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा एक और नई योजना पेश की गयी है जो की है आयुष्मान भारत राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन।

इस योजना के तहत 10 करोड़ से भी ज्यादा परिवारों को इसका लाभ मिलेगा। जहां 50 करोड़ लोगों को फ्री में स्वास्थ्य लाभ मिलेंगे।
आइये जानते है आयुष्मान भारत योजना के बारे में और कैसे करे आवेदन।

कैसे होगा चयन?

इस योजना में जितने भी परिवार शामिल होंगे वो 2011 की जनगणना के अनुसार होंगे। इस योजना के अंदर 10 करोड़ परिवारों को जोड़ा गया है। इन सभी परिवारों की सूचि आधार नंबर से तैयार की गई है जिससे आपayushman bharat yojana online applicationको सुविधा का लाभ मिलेगा। लिस्ट बनने के बाद कोई भी पहचान पत्र दिखा कर वेरीफाई करने की जरूरत नहीं है।

कैसे पता करेंगे की अपने परिवार का रजिस्ट्रेशन हुआ है या नहीं?

इस योजना में उन्ही परिवारों को जगह मिलेगी जो साल 2011 की जनगणना के अनुसार गरीबी रेखा से नीचे है। अगर आपको अपना नाम इस योजना में देखना है तो आप mera.pm.jay.gov.in वेबसाइट पर जाकर चेक देख सकते हैं।

आप इस वेबसाइट पर जायेगे, यहां होम पेज पर आपको एक बॉक्स मिलेगा जिसमे आपसे मोबाइल नंबर पूछा जायेगा। आप अपना मोबाइल नंबर डाल कर ओटीपी मैसेज के द्वारा पता लगा सकते है की आपका नाम आया है या नहीं। इसके अलावा आप 14555 पर कॉल करके भी पता कर सकते हैं

या फिर आप अपने नजदीकी हॉस्पिटल में जाकर भी पता लगा सकते है की अपना नाम आया है के नहीं।

अस्पताल से कैसे ले आयुष्मान भारत योजना का लाभ?

किसी भी मरीज व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती होने के बाद अपने बीमा दस्तावेज हॉस्पिटल में जमा करने होंगे। जिसके बेस पर हस्पताल वाले इलाज के सारे खर्च के बारे में बीमा कंपनी को बतायेगे और बीमित व्यक्ति के सभी दस्तावेजों की जानकारी होने के बाद ही इलाज फ्री में संभव हो सकेगा।

इस योजना में व्यक्ति सरकारी ही नहीं अपितु निजी अस्पतालों में भी इलाज करवा सकता है। जिसके फलस्वरूप सरकारी अस्पतालों में अब भीड़ कम होगी। इस योजना के तहत देशभर में डेढ़ लाख से ज्यादा हेल्थ और वेलनेस सेंटर खुलेंगे

आधार कार्ड के बिना मिलेगा लाभ

इस योजना में आपको आधार कार्ड की जरूरत नहीं है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश अनुसार किसी भी सरकारी स्कीम के लिए लोगो को आधार कार्ड की जरूरत नहीं है।

किन किन बिमारियों का होगा इलाज

इस योजना में आपको
मैटरनल हेल्थ (Maternal Health),
डिलीवरी की सुविधा (Delivery),
नवजात बच्चों के स्वास्थ्य (Neonatal health),
किशोर स्वास्थ्य सुविधा (Adolescent health),
कॉन्ट्रासेप्टिव सुविधा (Contraceptive services),
संक्रामक (Infectious, facilitate),
गैर संक्रामक रोगों के प्रबंधन की सुविधा (Facilitate the management of non-communicable diseases),
आंख (Eye),
नाक (nose),
कान (Ear) और गले से संबंधित बीमारी के इलाज की सुविधा मिलेगी।

कितने हॉस्पिटल में मिलेगा लाभ :

इसके दो कंपोनेंट हैं- पहले में 10.74 लाख परिवारों को 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा मिलेगा और दूसरे में हेल्थ वेलनेस सेंटर के तहत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को अपडेट किया जायेगा । ये केंद्र इस प्रकार है
छत्तीसगढ़:-> 1000,
गुजरात:–> 1185
राजस्थान:-> 505,
झारखंड:-> 646,
मध्यप्रदेश:-> 700,
महाराष्ट्र:-> 1450,
पंजाब:-> 800,
बिहार:-> 643,
हरियाणा:-> 255

Related Articles