क्या है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना कैसे ले लाभ इस स्कीम का?

वैसे तो भारत एक कृषि प्रधान देश है जो की कृषि के मामले में एशिया के दूसरे नंबर पर है। परन्तु ये सब होते हुए भी किसान आत्महत्या करने को मजबूर है। हालांकि भारतीय सरकार समय-समय पर कृषि में विकास के लिए अनेक योजनाओं लेकर आई थी, जो की इस प्रकार है:-

जैसे: गहन कृषि विकास कार्यक्रम, गहन कृषि क्षेत्र कार्यक्रम, हरित क्रान्ति, सूखा प्रवण क्षेत्र कार्यक्रम आदि।

इन सब के बावजूद भी किसानों का मरना जारी है और कृषि में भी सुधार नहीं हो पाया। भारत के किसानों की हालत और फसलों की बर्बादी में सुधार लाने के लिए मोदी जी की सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का शुभ आरम्भ 2016 में किया। देश में हर साल बहुत सी प्राकृतिक आपदा के कारण किसानों को नुकसान से बचाने के लिए इस योजना की शुरुआत की गयी है।

इस योजना में किसानों को प्रकृतिक आपदाओं से खराब खरीफ और रबी फसल पर सुरक्षा दी जाएगी। खरीफ फसल पर 2% प्रीमियम और रबी की फसल के लिये 1.5% प्रीमियम का भुगतान करना पड़ेगा।

आइए जाने इस योजना के बारे में विस्तार से

हम जानेंगे कि कैसे, कब हम इस योजना का लाभ उठा सकते है और आवेदन कर सकते है।

क्या है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के मुख्य उद्देश्य:

इस योजना को किसानों के लिए लाने का मुख्या उदेश्य इस प्रकार है :—>
फसल की बर्बादी कई कारणों पर निर्भर करती है जैसे :—–>मौसम, कीड़े, फसल से सम्बंधित रोग आदि. इन सब कारणों से फैसले खराब होती है जिसके चलते किसानों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ता है।

इस योजना से govt. इन सभी कारको से होने वाले नुकसान से किसानों को आर्थिक रूप में मदद करेगी। इस योजना का लाभ उन्ही फसलों पर मिलेगा जो सरकार ने योजना के अनुसार रखें है।

कृषि के काम में लाभ बहुत ही कठनाइयों से भरा है। किसानों की फसल आने वाले मौसम पर निर्भर करती है। फसल पर होने वाले लाभ और हानि का अनुमान नहीं रहता है और कई बार मार्किट में निश्चित फसल की डिमांड कम होने के चलते उन्हें फसल को बेचने में काफी मुश्किल का सामना करना पड़ता है।

और कई बार तो नुकसान भी झेलना पड़ता है। इन वजहों से बहुत से किसान खेती करना छोड़ भी देते हैं, जो की एक बहुत बड़ी समस्या है। इन्ही कारणों के चलते सरकार ने इस योजना का आरम्भ किया है। ताकि आप इन सब समस्यांओ से आप छुटकारा पा सको।

इस स्कीम में किसानों को नए उपकरणों के बारे मे और कैसे प्रयोग करे सिखाया जायेगा। वो इसलिए क्योकि देश में कई जगह कृषि क्षेत्र में लोग अब भी पुराने तरीकों से खेती कर रहे है। ज्यादातर ये देखा गया है कि कृषि को रोजगार की नज़र से नहीं देखा जाता है।

इसका मुख्य कारण फसल उत्पन्न के परिणामो पर निर्भर करता है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की मदद से कृषि क्षेत्र में एक बदलाव आएगा जिससे किसानों को कम से कम इतना लाभ मिल सके की वे जीवन आसानी से बिता सके।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के मुख्य उदेश्य

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में भुगतान बहुत ही कम रखी गयी है ताकि सभी किसान आसानी से फसल बीमा का लाभ ले।
इस योजना में सभी प्रकार की फसलों को शामिल किया गया है।

खरीफ फसलों के लिए जैसे चावल, मक्का, ज्वार, बाजरा, गन्ना आदि के लिये 2% प्रीमियम का भुगतान रखा गया है, रबी की फसल के लिये 1.5% प्रीमियम।

वाणिज्यिक तथा बागवानी फसलों के लिये 5% बिमा प्रीमियम रखा गया है।
90% प्रीमियम सरकार द्वारा बीमा कम्पनियों को दिया जायेगा।
ये स्कीम राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना और संशोधित राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना में आती है।
प्रधानमंत्री फसल योजना में 3 सालों के अंदर सरकार द्वारा 8,800 करोड़ खर्च करने और 50% किसानों को कवर करने का लक्ष्य रखा गया है।

प्रधानमन्त्री फसल बीमा योजना का ऑनलाइन वेबपोर्टल

भारत सरकार ने इस योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन वेब पोर्टल और स्मार्टफोन एप्लीकेशन को तैयार किया है जो की नीचे उपलब्ध है।
http://agri-insurance.gov.in/Login.aspx एवं http://pmfby.gov.in/

फसल बीमा योजना के लिए आवेदन कैसे करे?

इस योजना के लाभ के लिए आप सरकार द्वारा दी गयी वेबसाइट पर विजिट करे :–> http://pmfby.gov.in/
यहां आपको आवेदन के लिए पूछा जायेगा है। वहां क्लिक करने के बाद जो पेज खुलेगा उस पेज पर “किसान कॉर्नर – स्वयं द्वारा फसल बीमा के लिए आवेदन करें दिखेगा, आपको वहां क्लिक करना होगा।

ऐसा करने के बाद आपको अकाउंट बंनाने के लिए कहा जायेगा जिसके लिए आपको “गेस्ट फार्मर” पर क्लिक करना है. किल्क के बाद http://pmfby.gov.in/farmerRegistrationForm ये लिंक खुलेगा जहां आपसे इनफार्मेशन fill करने को कहा जायेगा, फॉर्म भरने के बाद आपको http://pmfby.gov.in/ पर जाकर आप अपने रजिस्ट्रेशन फोन नंबर से लॉग इन कर सकते हो. इस तरह से फसल बीमा के लिए ऑनलाइन आवेदन भरा जाता है।

Related Articles